Home investment Mutual Fund म्यूचुअल फंड | What is Mutual Fund | म्यूच्यूअल फंड क्या है? हिंदी में

म्यूचुअल फंड | What is Mutual Fund | म्यूच्यूअल फंड क्या है? हिंदी में

0
म्यूचुअल फंड | What is Mutual Fund | म्यूच्यूअल फंड क्या है? हिंदी में

म्यूचुअल फंड (Mutual fund)  एक प्रकार का सामुहिक निवेश होता है। निवेशकों के समूह मिल कर स्टॉक, अल्प अविधि के निवेश या अन्य प्रतिभूतियों (सेक्यूरीटीज) मे निवेश करते है।। यूटीआई एएमसी भारत की सबसे पुरानी म्यूचुअल फंड कंपनी है।

म्यूचुअल फ़ंड व्यावसायिक रूप से प्रबंध किया गया सामूहिक निवेश योजना है जो अनेक निवेशकों से धनराशि को एकत्रित करता है और स्टॉक्स, बॉन्ड, शॉर्ट – टर्म मनी मार्केट लिखतों, और / या अन्य प्रतिभूतियों में निवेश करता है।

कम रिस्क में अच्छे मुनाफे के लिए म्यूचुअल फंड निवेश का एक बेहतरीन विकल्प है. इस समय बाजार में निवेश के तमाम विकल्पों में से म्यूचुअल फंड्स ही अच्छा और टिकाऊ रिटर्न दे रहे हैं. यही वजह है कि बड़ी तादाद में निवेशक म्यूचुअल फंड की तरफ आकर्षित हो रहे हैं

म्यूचुअल फ़ंड में निवेश के लाभ

  • लचीलापन (Flexibility)- म्यूचुअल फ़ंड निवेश लचीलेपन के साथ सुव्यवस्थित निवेश प्लान, सुव्यवस्थित आहरण प्लान एवं लाभांश पुनर्निवेश विशेषताएँ प्रदान करता है..
  • खर्च करने की क्षमता – ये इकाई में उपलब्ध है अतः आसानी से खर्च कर सकते है. बड़े कॉर्पस के कारण छोटा निवेशक भी निवेश रणनीति से लाभान्वित हो सकता है.
  • तरलता (Liquidity)- असीमित अवधि वाली योजनाओं में आपके पास विकल्प है कि किसी भी समय चालू एनएवी पर धनराशि को आहरित या रीडिम (पुनः प्राप्त करना) कर सकते है.
  • विविधता (Diversification)- म्यूचुअल फ़ंड से जोखिम का भार कम हो जाता है चूंकि वे विभिन्न उद्योग एवं स्टॉक में निवेश करते है.
  • व्यावसायिक प्रबंधन (Professional Management)– म्यूचुअल फ़ंड के निपुण फ़ंड प्रबंधक अनुभव एवं शोध के आधार पर सभी विकल्पों का मूल्यांकन करते है.
  • प्रतिलाभ की संभावना – फ़ंड प्रबंधक जो आपके म्यूचुअल फ़ंड का ध्यान रखते है अतः उनके पास विश्व के प्रमुख अर्थशास्त्री एवं विश्लेषक से जानकारी एवं आंकड़ें प्राप्त रहते है. परिणाम स्वरूप एकल निवेशकों के बजाय इनके पास आपके निवेश को विकसित करने के लिए बेहतर सुअवसर उपलब्ध है.
  • कम लागत(Low cost) – ब्रोकरेज़, कस्टोडियल और अन्य शुल्क में लाभ से निवेशकों का लागत कम होगा.

म्यूचुअल फंड के प्रकार | Types of Mutual Funds

म्यूचुअल फंड की इक्विटी योजना में इंडेक्स फंड, डायवर्सिफाइड फंड, लार्ज-कैप फंड, मिड-कैप स्कीम और कर-बचाव योजना (टैक्स सेविंग स्कीम) जैसे बहुत से विकल्प उपलब्ध होते हैं। निवेशक निवेश के उद्देश्यों और लक्ष्य पर सही बैठने वाली योजना चुन सकते हैं।

Index Fund

जो निवेशक किसी विशेष शेयर के लिए कॉल नहीं चाहते वे सूचकांक आधारित योजना यानि इंडेक्स स्कीम में निवेश कर सकते हैं क्योंकि इंडेक्स स्कीम उन विशेष शेयरों में ही निवेश करती है जो किसी विशेष इंडेक्स का हिस्सा होते हैं। यदि इंडेक्स ऊपर जाता है तो निवेशक फायदे में रहते हैं।

Diversified fund

इसे डायवर्सिफाइड स्कीम भी कहते हैं। यदि किसी विशेष सेक्टर या इकनॉमी के किसी एक सेगमेंट में निवेश को लेकर नहीं रहना चाहते तो डायवर्सिफाइड स्कीम का विकल्प उपलब्ध होता है।

Open Ended and Close Ended

युनिट जारी करने के अनुसार दो प्रकार के होते हैं- ओपेन एंडेड फंड योजना के जीवनकाल में किसी भी समय यूनिट जारी किए जा सकते हैं या उनका भुगतान कर सकते हैं। क्लोज एंडेड फंड बोनस या राइट निर्गम को छोड़कर योजना के अंतर्गत कोई भी नया यूनिट जारी नहीं कर सकते हैं। इस ही कारण से ओपेन एंडेड योजना की इकाई पूंजी में शेयर की ही तरह उतार चढ़ाव हो सकते हैं, जबकि क्लोज एंडेड के मामले में ऐसा नहीं होता। ओपन एंडेड योजना में कभी भी प्रवेश लिया जा सकता है या उससे बाहर निकला जा सकता है और कई बार इनमें एक लॉक-इन पीरियड होता है, जिसके अंदर रीडेंपशन नहीं हो सकता, इसलिये इनमें प्रवेश के समय ही निश्चिंत हो जाना चाहिये। क्लोज एंडेड योजना में सब्सक्रिप्शन एक ही बार लिया जा सकता है और रीडेंपशन भी न्यूनतम तय समय सीमा के अंतराल पर ही हो सकता है। इस तरह क्लोज एंडेड स्कीम की तरलता (लिक्विडिटी) कम हो जाती है।

Large Cap and Mid Cap

अधिक जोखिम लेने की क्षमता वाले लोग स्मॉल या मिड कैप स्कीम का चुनाव कर सकते हैं। यह स्कीम अच्छी संभावनाओं वाली छोटी और मझोली कंपनियों में निवेश करती हैं। इनमें जोखिम अधिक होता है लेकिन इनमें अधिक रिटर्न देने की क्षमता होती है। शेयर बाजार में लंबी अवधि का निवेश लाभादायक होता है और अल्पावधि निवेश करने वालों के लिए जोखिम अधिक होता है। लार्ज कैप म्यूचुअल फंड में निवेश किसी ब्लूचिप कंपनी के स्टॉक में किया जाता है। इनमें निवेश सुरक्षित माना जाता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि इनके बारे में जानकारी हर जगह उपलब्ध होती है। मिड कैप म्यूचुअल फंड में निवेश मध्यम और छोटे आकार की कंपनियों में किया जाता है।

Balanced Fund

बैलेंस्ड फंड को हाइब्रिड फंड कहते हैं। यह कॉमन स्टॉक, प्रैफर्ड स्टॉक, बांड और अल्पावधि बांड होता है। यह फंड लाभादायक होते हैं, क्योंकि इनमें जोखिम कारक भी कम हो जाता है और बहुत हद तक पूंजी की सुरक्षा निश्चित होती है।

Growth Fund

ग्रोथ फंड की सहायता से अधिकतम फायदा प्राप्त करने का प्रयास किया जाता है। इनमें निवेश उन कंपनियों में किया जाता है जो बाजार में तेज प्रगति करती हैं। इन फंड्स में निवेश अधिक लाभ के लिए करते हैं और इस कारण से जोखिम अधिक होता है।

Dividend Fund

यदि कोई निवेशक डिविडेंड फंड में निवेश करता है| तो कंपनियों द्वारा समय-समय पर दिए जाने वाला डिविडेंड भी निवेशक को मिलता रहता है| यह नकद धनराशी निवेशक के खाते में जमा कर दी जाती है|

Value Fund

यह ऐसे फंड हैं जो सुरक्षा को वरीयता देते हैं। इनमें अपेक्षाकृत कम लाभ होता है, किन्तु हानि की संभावना बहुत कम होती है।

Money Market Fund

सामान्यत: मनी मार्केट सबसे सुरक्षित फंड माने जाते हैं। इनका मुख्य उद्देश्य निवेशित पूंजी सुरक्षित रखना होता है।

2022 के टॉप 10 म्यूचूअल फंड स्कीम | Top 10 Mutual fund schemes in 2022

  • Axis Bluechip Fund
  • Mirae Asset Large Cap Fund
  • Parag Parikh Long Term Equity Fund
  • UTI Flexi Cap Fund
  • Axis Midcap Fund
  • Kotak Emerging Equity Fund
  • Axis Small Cap Fund
  • SBI Small Cap Fund
  • SBI Equity Hybrid Fund
  • Mirae Asset Hybrid Equity Fund

अंत में, ‘सर्वश्रेष्ठ’ शब्द से शुरू होने वाली कोई भी खोज आपको सर्वोत्तम समाधान प्रदान करने की संभावना नहीं है। आपको हमेशा ऐसी योजना चुननी चाहिए जो आपके निवेश उद्देश्य, क्षितिज और जोखिम प्रोफ़ाइल से मेल खाती हो। यदि आप म्यूचुअल फंड की बुनियादी अवधारणाओं को नहीं समझते हैं या म्यूचुअल फंड और निवेश के लिए बिल्कुल नए हैं, तो आपको हमेशा म्यूचुअल फंड सलाहकार की मदद लेनी चाहिए।